काली मिर्च के फायदे -Benefits Of Black Pepper (Kali Mirch) In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी काली मिर्च के फायदे -Benefits Of Black Pepper (Kali Mirch) In Hindi आइये जानते है।

यह भी पढ़े – योग के फायदे -Benefits Of Yog And Yogasan In Hindi

हम अपनी मॉर्निंग की चाय से लेकर रात को सोने तक के पीने वाले दूध मे भी काली मिर्च का उपयोग करते है तो आप सब खुद ही सोचिये की काली मिर्च हमारे बेहतर स्वाथ्य के लिए कितनी अधिक फायदेमंद है और अभी कोरोना के चलते हर घर मे काढ़ा बनता है और सभी लोग इस काली मिर्च का उपयोग अवश्य करते ही होंगे क्योकि काली मिर्च गले की खर्राश को बहुत जल्द ठीक कर देती है । काली मिर्च का उपयोग अगर हम अपनी किसी भी खाने की डिश मे करते है तो उसका स्वाद बढ़ जाता है जैसे की -सलाद ,दूध की ठंडाई ,पास्ता ,पिज़्ज़ा ,हल्दी वाला दूध या किसी भी प्रकार की सूखी सब्जी मे करते है तो उसका टेस्ट बढ़ जाता है।काली मिर्च के फायदे

यह भी पढ़े – हाइट बढ़ाने के लिए कौनसा योग करना चाहिए – Yoga For Grow Height In Hindi

हेलो फ्रैंड्स कैसे है आप सभी उम्मीद करती हूँ की अच्छे ही होंगे ,जैसा की आप सभी जानते है मैं मेरे पोस्ट के माध्यम से आपको बहुत से आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स और उनमे समृद्ध प्राकर्तिक अवयवों के बारे मे बताती हूँ तो वैसे ही आज के इस पोस्ट के अंतर्गत हम बात करने वाले है प्राकर्तिक रूप से निर्मित ये छोटी सी काली मिर्च हमारे बेहतर स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद होती है। काली मिर्च के औषधीय गुण हमे कई प्रकार के स्वास्थ्य वर्धक लाभ प्रदान कर सकते है,तो इसलिए आज के इस पोस्ट के अंतर्गत हम बात करने वाले है काली मिर्च के फायदे -Benefits Of Black Pepper (Kali Mirch) In Hindi तो आइये जानते है तथा साथ ही आप यह भी जानेगे की काली क्या है और इसकी मुख्यतः पैदावार कहा होती है और इसके क्या क्या फायदे है।

यह भी पढ़े – चिया बीज के फायदे, उपयोग और नुकसान -Benefits Of Chia Seed ,Uses And Side Eefect In Hindi

काली मिर्च क्या है -What Is kali Mirch ( Black पेपर )

काली मिर्च पिपेरासी परिवार में एक फूल वाली बेल है, जिसकी खेती इसके फल के लिए की जाती है, जिसे पेपरकॉर्न के रूप में जाना जाता है, जिसे आमतौर पर सुखाया जाता है और मसाले के रूप में उपयोग किया जाता है। काली मिर्च की पैदावार भारत और अन्य उष्णकटिबंधीय एशियाई देशों मे होती है। काली मिर्च दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले मसालों में से एक है। काली मिर्च और सफेद मिर्च दोनों एक ही पौधे की प्रजाति से आते हैं। लेकिन उन्हें अलग तरह से तैयार किया जाता है। सूखे कच्चे फल को पकाकर काली मिर्च बनाई जाती है। सफेद मिर्च पके बीजों को पकाकर और सुखाकर बनाई जाती है।

काली से जुडी कुछ मुख्य जानकरी –

  • काली मिर्च का साइंटिफिक नाम ( वैज्ञानिक नाम ) -पाइपर नाइग्रुम
  • परिवार: पिपेरासी
  • प्रजाति: पी. नाइग्रुम
  • काली मिर्च अपनी समृद्ध सुगंधित तथा लोकप्रियता के कारण इसे भारतीय रसोई में इसे मसाले के रूप मे उपयोग किया जाता है ,तथा इसे अलग -अलग स्थानों पर अलग -अलग नाम दिए है
  • हिंदी नाम -काली मिर्च
  • बंगाली नाम-गोल मोरिच और कालो मारीच
  • गुजरती नाम -कला मारी
  • कन्नड़ नाम – करे मेनासु
  • कश्मीरी नाम -मारुति
  • मलयालम नाम -करुमलुकु और नल्लामालुकु

इस प्रकार से काली मिर्च को अपने औशधीय गुणों की वजह से बहुत सी अलग -अलग जगह की वजह से अलग नामो से जाना जाता है। काली मिर्च के पौधे का मूल स्थान दक्षिण भारत ही माना जाता है। भारत से बाहर इंडोनेशिया, बोर्नियो, इंडोचीन, मलय, लंका और स्याम इत्यादि देशों में भी इसकी खेती की जाती है। विश्वप्रसिद्ध भारतीय गरम मसाले में, ऐतिहासिक और आर्थिक दोनों दृष्टियों से, काली मिर्च का बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है। आयुर्वेदिक ग्रंथों में इसका वर्णन और उपयोग प्राचीन काल से चला आ रहा है।

सफ़ेद मिर्च -सफेद मिर्च, काली मिर्च की एक विशेष किस्म है जिसकी कटाई फसल पकने से पहले ही हो जाती है। सफेद और काली मिर्च दोनों एक ही पौधे के फल हैं; बस अपने रंग की वजह से उनका इस्तेमाल अलग हो जाता है। सफेद मिर्च का प्रयोग आमतौर हल्के रंग के व्यंजनों जैसे कि सूप, सलाद, ठंडाई, बेक्ड रेसिपी इत्यादि में किया जाता है।

यह भी पढ़े – हाइट बढ़ाने के लिए बेस्ट एक्सरसाइज – Best Exercises To Increase Height In Hindi

काली मिर्च के औशधीय फायदे -Aayurvedic Benefits Of Kali Mirch

काली मिर्च आमतौर पर हर घर में पाया जाने वाला मसाला है। यह विभिन्न व्यंजनों का एक अभिन्न अंग है और इसके कई औषधीय उपयोग भी हैं। क्या आपने कभी सोचा है कि काली मिर्च को ‘मसाले का राजा’ क्यों कहा जाता है? ऐसा इसलिए है क्योंकि इस मसाले के आपके शरीर के लिए बहुत सारे फायदे हैं , इस अद्भुत मसाले के कुछ औशधीय गुण निम्न है –

  • आयुर्वेद के अनुसार कालीमिर्च का पेस्ट त्वचा की एलर्जी में होने वाली लालिमा और खुजली को कम करने में मदद करता है।
  • काली मिर्च के गुण सर्दी -झुकाम वात-कफ को कम करने मे सहायक है।
  • कालीमिर्च का पेस्ट प्रभावित जगह पर लगाने पर गठिया के दर्द को कम करने में मदद करता है।
  • वजन कम करने में मदद करता है।
  • आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है।
  • कैंसर से बचाता है।
  • आपकी आंतों और पेट को साफ करता है।
  • इसमें पोटेशियम होता है जो हृदय गति और उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।
  • लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में मदद करता है।
  • विटामिन बी से भरपूर और कैल्शियम का उत्पादन करता है।
  • कब्ज को रोकता है।
  • त्वचा की लालिमा और झुर्रियों को रोकता है।

काली मिर्च को कैसे स्टोर करें? -How To Store Kali Mirch

  • काली मिर्च किसी भी स्थानीय, किराना स्टोर या किसी बड़े ग्रोसरी स्टोर से आप साबुत और पिसी हुई दोनों रूप मे मिल जाती है आप आसानी से ले सकते है।
  • आप इसे ऑनलाइन (online) भी ख़रीद सकते हैं।
  • काली मिर्च/दरदरी कुटी काली मिर्च को ठंडी और सूखी जगह पर एयरटाइट कंटेनर में भरकर स्टोर करें।

काली मिर्च का आप किन -किन रेसिपीस मे उपयोग कर सकते है

काली मिर्च का प्रयोग भोजन में कई तरीके से किया जाता है. राजमा, छोले एवं अन्य चटपटी सब्जियों को बनाने में भी काली मिर्च का उपयोग होता है. काली मिर्च पाउडर का इस्तेमाल रायता, चटनी एवं सलाद में भी किया जा सकता है. इससे इन चीजों का स्वाद बढ़ जाता है. व्रत में भी इसका सेवन किया जाता है ,इसके आलावा कुछ चीज़ो के नाम निम्न है –

  • पिज़्ज़ा
  • पास्ता
  • गरम मसाला
  • फलाहारी दही वड़े
  • दही के शोले
  • दाल पापड़
  • मंचूरियन
  • चिल्ली मशरूम
  • मसाला उड़द दाल
  • टमाटर की चटनी

काली मिर्च के स्वास्थ्य लाभ -Healthy Benefits of Black Pepper

काली मिर्च का उपयोग सूखे मसाले के रुप मे किया जाता रहा है. काले रंग एवं तीखे स्वाद के कारण काली मिर्च को यह नाम मिला है. यह आकार में छोटी और गोल होती है. इसके ऊपर मोटी-मोटी धारियां होती हैं. सब्जियों में तीखापन लाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है किन्तु यह इतनी अधिक स्वास्थ्यवर्धक हो सकती है यह एक विचारणीय प्रश्न है काली मिर्च के बहुत से फायदे है किन्तु यह काली मिर्च एक कीटाणुनाशक के रूप में कार्य कर सकती है जो कई बीमारियों को रोक सकती है तो आइये जानते है “मसालों के राजा काली मिर्च ” के क्या -क्या स्वास्थ्य लाभ है।

1 ) डायबिटीज कंट्रोल करने मे सहायक –काली मिर्च ब्लड शुगर लेवल्स को प्रभावित कर सकती है। काली मिर्च को भोजन मे अधिक मात्रा में लेने से मधुमेह ( डायबिटीज) वाले लोगों में ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल हो सकता है। काली मिर्च में एंटीहाइपरग्लाइसेमिक एजेंट होते हैं, जो रक्त में ग्लूकोज की मात्रा को कम कर सकते हैं। इससे डायबिटीज के इलाज में मदद मिल सकती है

2 ) कैंसर के इलाज मे सहायक –काली मिर्च को हल्दी के साथ मिलाने से कैंसर जैसी घातक बीमारी को भी कम किया जा सकता है ,इससे बचा जा सकता है। काली मिर्च को हल्दी के साथ आप दूध मे मिलकर पि सकते है ,इससे कैंसर से बचाव होता है। यह दूध आमतौर पर बहुत अधिक जिन्हे सर्दी हो जाती है उन्हें दिया जाता है। काली मिर्च मे एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन ए और कैरोटीनॉयड होते हैं जो कैंसर और अन्य घातक बीमारियों को ठीक करने में मदद करते हैं।इसके अलावा,काली मिर्च को दैनिक आहार में शामिल किया जाना चाहिए क्योंकि यह सबसे अच्छा तरीका है जिससे आप प्राकृतिक रूप से फिट रह सकते हैं।

Related Post

3 ) पाचनतंत्र को सुचारु बनाये रखने मे सहायक –काली मिर्च अच्छे पाचन में मदद करती है और जब इसे कच्चा खाया जाता है, तो पेट से हाइड्रोक्लोरिक एसिड निकलता है और प्रोटीन को तोड़ने में मदद करता है। हाइड्रोक्लोरिक एसिड आपकी आंतों को साफ करने और आपको अन्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रोगों से बचाने में मदद करता है। इसलिए अपने खाने में एक चुटकी काली मिर्च अवश्य डाले।

4 ) सर्दी -झुकाम से राहत –काली मिर्च के औषधि गुण का असर सर्दी-खांसी को बहुत जल्द कम करने मे सहायक है। काली मिर्च सर्दी-खांसी के लिए एक दवाई के रूप में काम करती है। ऐसा कहा जाता है कि इसमें पाइपरिन (Piperine) नामक कंपाउंड होता है, जो सर्दी-खांसी को बहुत जल्द ठीक कर देता है। काली मिर्च गले में खराश की समस्या कर देती है।

5 ) वजन कम करने मे सहायक –काली मिर्च की बाहरी परत वसा कोशिकाओं को तोड़ने में मदद करती है। इसे ग्रीन टी में मिलाकर दिन में दो से तीन बार सेवन किया जा सकता है, ऐसा इसलिए है क्योंकि इस मसाले में फाइटोन्यूट्रिएंट्स की भरपूर मात्रा होती है जो अतिरिक्त वसा को तोड़ने में मदद करता है। इससे आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म भी बेहतर होता है। इसके अलावा, काली मिर्च से बने खाद्य पदार्थ वजन कम करने का एक प्रभावी तरीका है। काली मिर्च के सेवन से शरीर से अतिरिक्त चर्बी खत्म हो जाती है। काली मिर्च को करी में इस्तेमाल किया जा सकता है या रोजाना सुबह गर्म पानी के साथ सेवन करने से भरपूर लाभ मिलता है।

6 ) काली मिर्च शरीर को डिटॉक्सीफाई करने मे सहायक –यह मसाला आपको पसीना लाने और पेशाब करने में बहुत मदद करता है और इसके द्वारा आप अपने शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल देते हैं। पसीना आना और लगातार पेशाब करना एक अच्छा इंडिकेशन है कि आपका शरीर अच्छी तरह से काम कर रहा है। इसके अलावा, आपको केवल काली मिर्च का सेवन आपके लिए बहुत अधिक लाभदायी है।

7 ) जोड़ों के दर्द को कम करने मे सहायक –जोड़ों में दर्द और गठिया का मुख्य कारण सूजन हो सकती है, जिसे छुटकारा दिलाने में काली मिर्च मदद कर सकती है। अगर आप अपने जोड़ों के दर्द को कम करना चाहते है तो आपको काली मिर्च का अवश्य सेवन करना चाहिए। अगर आप जोड़ों के दर्द से पीड़ित हैं तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि काली मिर्च में ऐसे औषधीय गुण होते हैं जो इस समस्या को दूर करने में आपकी मदद कर सकते हैं। यह गठिया को रोकने में भी मदद करता है। इसका उपयोग रीढ़ और जोड़ों के दर्द से पीड़ित लोगों के लिए भी किया जाता है। काली मिर्च में मौजूद पाइपरिन में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीअर्थराइटिस गुण पाए जाते है जो सूजन की समस्या को कम कर गठिया मे आराम दिलाने मे आपकी सहायता करेगी।

8 ) त्वचा की समस्याओं का इलाज करने मे सहायक –काली मिर्च आपकी त्वचा को किसी भी प्रकार के पिगमेंटेशन से बचाती है और आपकी त्वचा के मूल रंग को बनाए रखने में मदद करती है। छोटी उम्र से ही काली मिर्च का सेवन करने से झुर्रियां और त्वचा संबंधी समस्याएं खत्म हो जाती हैं। यह समय से पहले बूढ़ा होने और काले धब्बों को भी रोकता है। कच्चे या पके हुए इस मसाले का सेवन आपके दैनिक आहार के लिए काफी अच्छा है जो आपके शरीर को लाभ पहुंचाएगा और सबसे महत्वपूर्ण आपकी त्वचा को जवा बनाये रखने मे आपकी मदद करेगी।

9 ) मस्तिष्क के लिए फायदेमंद –काली मिर्च में मेथनॉलिक अर्क और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो अल्जाइमर जैसे मानसिक रोग से राहत पहुंचा कर याददाश्त को बढाने का काम कर सकते हैं। साथ ही एंटीऑक्सीडेंट गुण ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस की समस्या से निजात दिला सकते हैं, जो मस्तिष्क के लिए अच्छा हो सकते हैं। छोटी सी काली मिर्च के फायदे मस्तिष्क के लिए भी हो सकते हैं ,ये कभी सोचा नहीं था।0 ) बालो को स्वस्थ बनाये रखने मे स

10 ) बालो को स्वस्थ बनाये रखने मे सहायक –डैंड्रफ का इलाज करने के लिए काली मिर्च को अच्छा बताया गया है। अगर आप भी अपने बालो को बेहतर बनाये रखना चाहते है तो आपको बस थोड़ी सी कुटी काली मिर्च को दही के साथ मिलाकर अपने स्कैल्प पर लगाएं और इसे कम से कम 30 मिनट के लिए सूखने दें। इसके अलावा,यह ध्यान रखे कि आप अधिक काली मिर्च का उपयोग न करें क्योंकि इससे आपकी खोपड़ी में जलन हो सकती है। बालों में काली मिर्च लगाने के बाद अगले 24 घंटों तक शैम्पू का उपयोग न करें क्योंकि इससे दुष्प्रभाव हो सकते हैं। इससे आपके बाल घने और चमकदार हो जायेंगे।

कालीमिर्च का उपयोग कैसे करें -How To Use Kali Mirch

  1. खाना पकाने में कालीमिर्च
    कालीमिर्च का उपयोग खाना पकाने में मसाले के रूप में स्वाद प्रदान करने और अपने भोजन के स्वाद को बढ़ाने के लिए कर सकते है |
  2. कालीमिर्च चूर्ण 3-4 चुटकी कालीमिर्च चूर्ण लें , इसे शहद के साथ मिलाकर भोजन के बाद दिन में दो बार लें।
  3. 3 कालीमिर्च (मारीचडी वटी)
    कालीमिर्च (मारीचडी वटी) की 1-2 गोलियां लें।
    इसे पानी के साथ निगल लें और भोजन के बाद दिन में दो बार लें।
  4. 4 ) कालीमिर्च क्वाथी
  5. 2-3 चम्मच कालीमिर्च क्वाथ (काढ़ा) लें।
  6. इसे शहद के साथ मिलाकर भोजन के बाद दिन में दो बार लें।

काली मिर्च के फायदे के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न -Frequently asked Questions about Benefits Of Black Pepper (Kali Mirch) In Hindi

1 ) ब्लैक पेपर में क्या होता है?
काली मिर्च और इसके सक्रिय यौगिक पिपेरिन में शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट और गुण हो सकते हैं। काली मिर्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर, रक्त शर्करा नियंत्रण और मस्तिष्क और आंत के स्वास्थ्य में सुधार कर सकती है।

2 ) काली मिर्च का क्या फायदा है?
काली मिर्च, जिसे मसालों के राजा के रूप में भी जाना जाता है, जिसमें स्वास्थ्य लाभ का भार होता है और काली मिर्च के सेवन का एक बड़ा लाभ यह है कि यह वजन घटाने में सहायक है। यह पाचन के लिए भी अच्छा माना जाता है और शरीर को डिटॉक्स करके कैंसर से बचाता है।

3 ) काली मिर्च की खोज कैसे हुई?
दुनिया का सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला मसाला, पाइपर नाइग्रम, एक फूल वाली बेल (अंगूर की तरह) पर एक झुरमुट में जामुन के रूप में जीवन शुरू करता है। दक्षिणी भारत के मूल निवासी, आज काली मिर्च पूरे उष्ण कटिबंध में उगाई जाती है। काली मिर्च का उपयोग करने वाले लोगों के पुरातात्विक साक्ष्य भारत में कम से कम 2000 ईसा पूर्व के हैं।

4 ) काली मिर्च कैसे बनती है ?
काली मिर्च हरे पौधे कच्चे ड्रूप से उत्पन्न होती है। वनस्पति जगत में पिप्पली कुल के मरिचपिप्पली नामक लता जैसे दिखाई देने वाले बारहमासी पौधे के अधपके और सूखे फलों का नाम काली मिर्च है। पके हुए सूखे फलों को छिलकों से बिलगाकर सफेद गोल मिर्च बनाई जाती है जिसका व्यास लगभग 5 मिमी होता है। यह मसाले के रूप में प्रयुक्त होती है।

5 ) काली मिर्च कब खाना चाहिए?
इसे पीने से गैस के कारण होने वाले पेट दर्द और पेट फूलने में आराम मिलता है। एक कप पानी में आधा नींबू निचोड़ लें। इसमें 5-6 काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर भोजन के बाद सुबह-शाम पीने से पैट की गैस, भूख का घटना-बढ़ना आदि में लाभ होता है।

विशेष नोट –काली मिर्च हो या अन्य कोई दवा किसी भी चीज़ का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य परामर्श करे , तथा इस वेबसाइट पर बताये गए किसी भी प्रोडक्ट्स का इस्तमाल अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही करे।

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट के अंतर्गत मैंने आपको बताया की काली मिर्च के फायदे -Benefits Of Black Pepper (Kali Mirch) In Hindi तथा इससे सम्बंधित पूर्णरूप से जानकारी दी है किन्तु फिर भी अगर आपको इसमें कुछ नहीं समझ आता है या इससे रिलेटेड कुछ और डिटेल्स जानना चाहते है तो आप मुझे comment बॉक्स मे जरूर से कमेंट करिये मैं आपके सवालो के जवाब दूंगी और मेरे साथ जुड़े रहने के लिए मेरे , आज के इस पोस्ट को अपनी family और friends के साथ जरूर शेयर कीजिये, और उम्मीद करुँगी की आप मेरा पोस्ट जरूर पढ़ेंगे ।

admin

Recent Posts

हिमालया ईवकेयर कैप्सूल के फायदे तथा उपयोग -Himalaya Evecare Capsule Uses In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी हिमालया ईवकेयर कैप्सूल के फायदे तथा उपयोग -Himalaya…

2 hours ago

हिमालया एंटी हेयर फॉल ऑयल के फायदे तथा उपयोग -Himalaya Anti Hair Fall Oil Uses In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी हिमालया एंटी हेयर फॉल ऑयल के फायदे तथा…

1 day ago

हिमालया हिओरा-गा जेल के फायदे तथा उपयोग -Himalaya Hiora-Ga Gel Uses In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी हिमालया हिओरा-गा जेल के फायदे तथा उपयोग -Himalaya…

3 days ago

हिमालया सेंसिटिव टूथपेस्ट के फायदे तथा उपयोग -Himalaya Sensitive Toothpaste Uses In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी हिमालया सेंसिटिव टूथपेस्ट के फायदे तथा उपयोग -Himalaya…

6 days ago

हिमालया पाइलेक्स टैबलेट के फायदे तथा उपयोग -Himalaya Pilex Tablet Uses In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी हिमालया पाइलेक्स टैबलेट के फायदे तथा उपयोग -Himalaya…

1 week ago

हिमालया वी जेल के फायदे तथा उपयोग -Himalaya v gel Uses In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी हिमालया वी जेल के फायदे तथा उपयोग -Himalaya…

1 week ago

This website uses cookies.