ग्रीन टी के 10 फायदे तथा बनाने की विधि – Green Tea Benefits In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी ग्रीन टी के 10 फायदे तथा बनाने की विधि – Green Tea Benefits In Hindi आइये जानते है।

यह भी पढ़े – काली मिर्च के फायदे -Benefits Of Black Pepper (Kali Mirch) In Hindi

हम अपनी मॉर्निंग मे उठते ही शुरआत चाय के साथ करते है लेकिन जो लोग अपनी बॉडी को लेकर काफी पजेसिव रहते है और अपनी बॉडी की फिटनेस को बरकार बनाये रखना चाहते है वे भी अपनी मॉर्निंग की शुरुआत करते तो ‘TEA ‘ से ही है लेकिन उनकी टी ग्रीन होती है ,क्योकि फिटनेस और स्वास्थ्य की बात आये तो ग्रीन टी के फायदों को नजरअंदाज नही किया जा सकता। इंडियन मेडिकल थैरेपी में ग्रीन-टी या हरी चाय काे काफी फायदेमंद माना जाता है। ग्रीन टी आजकल ज्यादातर लोगो के रूटीन मे आ चुकी है और इसका कारण इसके फायदे है और इसलिए आजकल लोग मिल्क टी से ज्यादा ग्रीन टी को पीना पसंद करते है।

यह भी पढ़े – योग के फायदे -Benefits Of Yog And Yogasan In Hindi

हेलो फ्रैंड्स कैसे है आप सभी उम्मीद करती हूँ की अच्छे ही होंगे ,जैसा की आप सभी जानते है मैं मेरे पोस्ट के माध्यम से आपको बहुत से आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स और उनमे समृद्ध प्राकर्तिक अवयवों के बारे मे बताती हूँ तो वैसे ही आज के इस पोस्ट के अंतर्गत हम बात करने वाले है से ग्रीन-टी सम्बंधित की यह ग्रीन-टी हमारे बेहतर स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद हो सकती है। अपने औषधीय गुणों के कारण ग्रीन टी पूरे विश्व में प्रचलित है ,तो इसलिए आज के इस पोस्ट के अंतर्गत हम बात करने वाले है ग्रीन टी के 10 फायदे तथा बनाने की विधि – Green Tea Benefits In Hindi तो आइये जानते है तथा साथ ही आप यह भी जानेगे की ओट्स क्या है और इसके क्या क्या फायदे है।

यह भी पढ़े – ओट्स के फायदे तथा उपयोग -Oats Benefits In Hindi

ग्रीन टी क्या है -What Is Green Tea

ग्रीन टी एक प्रकार की चाय है जो कैमेलिया साइनेंसिस की पत्तियों और कलियों से बनाई जाती है। इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सस्टेनेबल डेवलपमेंट की एक रिपोर्ट के अकॉर्डिंग चाय दुनिया में पानी के बाद दूसरा सबसे ज्यादा पिया जाने वाला पेय पदार्थ है। हर्बल को छोड़कर सभी प्रकार की चाय, कैमेलिया साइनेंसिस झाड़ी के सूखे पत्तों से बनाई जाती है। पत्तियों के ऑक्सीकरण का स्तर चाय के प्रकार को निर्धारित करता है। ग्रीन टी अनऑक्सीडाइज़्ड पत्तियों से बनाई जाती है और यह चाय के सबसे कम प्रोसेस्ड प्रकारों में से एक है। इसी वजह से इसमें सबसे ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट और फायदेमंद पॉलीफेनॉल्स होते हैं। मॉर्निंग मैं अगर आप ग्रीन टी पिएंगे तो ये आपके लिए सबसे बेस्ट होगा।

यह भी पढ़े – हाइट बढ़ाने के लिए कौनसा योग करना चाहिए – Yoga For Grow Height In Hindi

ग्रीन टी की विशेषताये –

  • ग्रीन टी एक प्रकार की चाय होती है, जो कैमेलिया साइनेन्सिस नामक पौधे की पत्तियों से बनायी जाती है।
  • ग्रीन टी पीने की शुरुआत चीन देश से हुई थी लेकिन फिर एशिया में जापान से मध्य-पूर्व इत्यादि जगह मे भी इसका प्रचलन हो गया।
  • कैमेलिया साइनेंसिस की सूखी पत्तियों और पत्ती की कलियों का उपयोग विभिन्न प्रकार की चाय बनाने के लिए किया जाता है।
  • ग्रीन टी का फ्लेवर ताज़गी से भरपूर और हल्का होता है तथा स्वाद सामान्य चाय से अलग होता है।
  • ग्रीन टी इन पत्तियों को भाप में और पैन में तल कर और फिर सुखाकर तैयार की जाती है।

ग्रीन टी के प्रकार – Types of Green Tea


ग्रीन टी मार्केट मे कई प्रकार मे उपलब्ध है किन्तु उन सभी के बारे के बारे आपको बता पाना थोड़ा मुश्किल होगा और इसलिए मैं कुछ ग्रीन टी के प्रकार के बारे मैं आपको जानकरी दूंगी –

सेन्चा – सेन्चा ग्रीन टी का सबसे अधिक पिने वाला और प्रसिद्ध किस्म है।
फुकामुशी सेन्चा-ग्रीन टी जिसे नियमित सेन्चा की तुलना में लगभग दो बार स्टीम किया गया है, उसे फुकामुशी सेन्चा या फुकामुशी रयोकुचा कहा जाता है।
ग्योकुरो ग्रीन-टी
कबुसेचा ग्रीन-टी
मटका ग्रीन-टी
तेन्चा ग्रीन-टी
जेनमाइचा ग्रीन-टी
होजिचा ग्रीन-टी
जैस्मीन ग्रीन-टी
मोरक्को मिंट ग्रीन-टी
गेन माचा ग्रीन-टी
ड्रैगन वेल ग्रीन-टी
कुकीचा ग्रीन-टी
ग्योकुरो ग्रीन-टी
बिलोचन ग्रीन-टी
माचा ग्रीन-टी

ग्रीन-टी के फायदे Benefits Of Green Tea

ग्रीन टी यानी हरी चाय एक ऐसी किस्म की चाय है जो कि एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होती है. यह हैल्थ और स्किन दोनों के लिए ही काफी फायदेमंद साबित हुई है। कैफ़ीन की मात्रा कम होने के कारण इस चाय के नुकसान कम और फायदे ज़्यादा होते हैं, जिसकी वजह से सभी लोग नॉर्मल टी की जगह अब ग्रीन टी को ही प्रिफर करते हैं. इस चाय का सेवन करने के कुछ फायदे तो आइये जानते है –ग्रीन टी के 10 फायदे-

1 ) ग्रीन-टी फॉर बॉडी डिटॉक्स – ग्रीन-टी बॉडी डिटोज़ के लिए एकदम सही ऑलराउंडर टी है क्योकि ग्रीन टी तरोताजा कर देती है, रिहाइड्रेट करती है और आपके सिस्टम को शुद्ध करने में मदद कर सकती है। पूरे बॉडी सिस्टम को फिर से जिवंत कर देती है और पाचन में सहायता करती है। ग्रीन-टी को पीने से आपकी बॉडी पूरे दिन एक्टिव रहती है। ग्रीन-टी प्राकर्तिक होने के साथ शुद्ध भी होती है और यह आपके शरीर को विषाक्त पदार्थों से मुक्त करने में मदद करते हुए डिटॉक्सिंग आपको कम फूला हुआ और अधिक ऊर्जावान महसूस करवाने मे आपकी मदद करती है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर ग्रीन टी न केवल आपके शरीर को डिटॉक्सिफिकेशन के लिए है बल्कि यह शराब जैसे जहरीले पदार्थों के हानिकारक प्रभावों से आपके लिवर की रक्षा करते हुए आपके इम्यूनटी सिस्टम को मजबूत करने मे सहायक है।

2 ) ग्रीन टी फॉर इम्यूनिटी –ग्रीन टी का सेवन करने से शरीर में किसी भी प्रकार के होने वाले इंफेक्शन का खतरा कम हो जाता हैं. रोज़ाना ग्रीन टी का सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जो कि इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में लाभदायक साबित होती है. ‘माचा’ एक किस्म की ग्रीन टी है जिसमें आयरन, पोटैशियम, विटामिन ए, विटामिन सी और कैल्शियम प्रचुर मात्रा में होते हैं जो इम्यूनिटी को मजबूत करने में लाभकारी होते हैं।

3 ) ग्रीन टी फॉर स्किन –स्वास्थ्य के साथ-साथ ग्रीन टी के फायदे त्वचा के लिए भी है। ग्रीन टी के अर्क के सेवन या उसके उपयोग से हानिकारक पराबैंगनी किरणों के कारण स्किन ट्यूमर का जोखिम कम हो सकता है। इसमें एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण भी मौजूद होते हैं जो स्किन को सन डैमेज और एजिंग से बचाती हैं और त्वचा को ग्लो देती है. ग्रीन टी पीने से तो चेहरे पर ग्लो आता ही है लेकिन आप इसको अपने फेस पर लगा भी सकते हैं. डार्क सर्कल्स को हटाने के लिए ग्रीन टी काफ़ी फायदेमंद होती है।

4 ) ग्रीन टी फॉर मेंटल हैल्थ – मस्तिष्क को स्वस्थ बनाये रखने के लिए ग्रीन टी लाभकारी होती है। ग्रीन टी स्ट्रेस को कम करने, एकाग्रता बढ़ाने और मस्तिष्क में सकारात्मक सोच का संचार करने में मदद करती है. रोज़ाना ग्रीन टी का सेवन करने वाले लोगों को डिप्रेशन और एंज़ाइटी जैसी मानसिक परेशानियां कम ही होती हैं और इससे मेन्टल स्ट्रेस बहुत हद तक कम हो जाता है।

5 ) ग्रीन टी फॉर वेट लॉस –सभी लोग फिट दिखना चाहते हैं लेकिन वेट कम नहीं होता तो फिट दिखना है तो उसके लिए चाहिए ग्रीन टी आज से ही शुरू करे क्योकि ग्रीन टी में ज़ीरो कैलोरीज़ होती हैं। ग्रीन टी में कैफीन और कैटेचिन (catechin) नामक फ्लेवोनायड होता है। कैटेचिन एक तरह का एंटी ऑक्सिडेंट होता है, जो फैट को कम करने में मदद करता है। रिसर्च के मुताबिक ग्रीन टी में मौजूद कैफीन और फ्लेवनॉयड शरीर को भरपूर एनर्जी देते हैं, जिससे खाना ठीक से डाइजेस्ट होता है। इससे शरीर में चुस्ती-फुर्ती भी रहती है।

6 ) ग्रीन टी फॉर डायबिटीज़ –ग्रीन टी एंटी-ऑक्सीडेंट और कई गुणों से भरपूर होती है जो आपके स्वास्थ्य के लिए विभिन्न तरीकों से फायदेमंद हो सकती है। ग्रीन-टी पीना हेल्दी ब्लड शुगर के स्तर को बनाए रखने में सहायक होता है। अध्ययनों के अनुसार, टाइप -2 डायबिटीज के जोखिम को ग्रीन-टी पीने से नियंत्रित किया जा सकता है।

7 ) ग्रीन टी फॉर कैंसर -ग्रीन टी मुंह के कैंसर से लड़ने में कारगर हो सकती है. हाल ही में एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि ग्रीन टी में पाए जाने वाला एक यौगिक मुंह के कैंसर की कोशिकाओं को नष्ट कर सकता है, जबकि यह सामान्य कोशिकाओं को क्षति नहीं पहुंचाता है। नेशनल कैंसर इंस्टिट्यूट के मुताबिक, पॉलीफेनोल (कैटेचिन) चाय के एंटी-कैंसर गुणों के लिए जिम्मेदार है।

8 ) ग्रीन टी फॉर कोलेस्ट्रॉल –ग्रीन टी शरीर में बढ़े हुए फैट को गलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. ग्रीन टी का इस्तेमाल डायबिटीज के रोगियों के लिए रामबाण की तरह होता है. ग्रीन टी शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने मददगार होती है। ग्रीन-टी हानिकारक कोलेस्ट्रॉल, जिससे ह्रदय रोग होने की आशंका बढ़ती है, उसके स्तर को कम कर सकती है।

9 ) ग्रीन टी फॉर अल्जाइमर – ग्रीन-टी के सेवन से कई मानसिक बीमारियों का जोखिम भी कम हो सकता है। अल्जाइमर उन्हीं बीमारियों में से एक है। इस बीमारी में दिन-प्रतिदिन व्यक्ति की याददाश्त कमजोर होने लगती है और ऐसे में इस बीमारी से बचाव के लिए ग्रीन टी का सेवन किया जा सकता है। ग्रीन टी में पाए जाने वाले एक सत्त और नियमित व्यायाम से अल्जाइमर जैसी गंभीर बीमारी को बढ़ने से रोका जा सकता है और अल्जाइमर प्रभाव को कम कर सकता है।

10 ) ग्रीन टी फॉर हेयर ( बालो के लिए ) -ग्रीन टी डिप्रेशन और तनाव से लड़ने में मदद करती है जो बालों के झड़ने के पहला और मुख्य कारण होता है । रोजाना ग्रीन टी पीने से आपका मूड अच्छा होता है और आपको खुश रहने में मदद मिलती है। इस चाय के एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण स्कैल्प को हाइड्रेटेड रखते हैं और रूसी को हटाते हैं जिससे बालों का झड़ना रोका जा सकता है।

ग्रीन टी पीने का सही समय –

  • एक्सरसाइज से पहले ग्रीन टी जरूर पिए।
  • ग्रीन टी सुबह उठते ही पिए।
  • नाश्ते और दोपहर के भेजने के एक घंटे बाद ग्रीन टी नहीं लें।
  • लेट नाइट नहीं पीना चाहिए क्योंकि कैफीन नींद कम कर सकती है।

ग्रीन टी कैसे बनाये -How To Make Green tea

  • एक बाउल मे एक कप गर्म पानी करे थोड़ा इसे उबलने दे।
  • अब इसे ग्रीन टी बैग को डीप करे तथा कुछ देर ऐसे ही रहने फिर बहार निकाल ले।
  • अब इसका अगर आप टास्ते बढ़ाना चाहते है तो आप अपने अकॉर्डिंग लेमन जूस और शहद डाल ले।
  • यह आपकी ग्रीन टी तैयार और इसका आंनद ले।

ग्रीन टी के नुकसान – Side effect of Green Tea

जिस प्रकार से हर चीज़ के कई फायदे होते है तो उसके नुकसान भी होते है तो आइये जानते है ग्रीन टी के क्या नुकसान है –

  • ग्रीन टी के सेवन से पेट दर्द, मतली और लिवर संबंधी समस्या हो सकती है।
  • ग्रीन टी में कैफीन मौजूद होता है, ऐसे में इसके अधिक सेवन से अनिद्रा, सिरदर्द, कंपकंपी और चिंता जैसी परेशानियां हो सकती हैं।
  • ग्रीन टी में टैनिक एसिड (Tannic Acid) नामक तत्व होता है, जो दांतों में दाग का कारण बन सकता है।
  • एक दिन में दो कप से ज्यादा ग्रीन टी पीना नुकसानदेह हो सकता है
  • गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी के सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें।

ग्रीन टी के फायदे तथा उपयोग के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न -Frequently asked Questions about Green Tea Benefits In Hindi

1 ) ग्रीन टी कब लेनी चाहिए?
ग्रीन टी पीने का सही समय सुबह 7 – 8 बजे के बीच का है।

2 ) क्या खाली पेट ग्रीन टी पीनी चाहिए?
खाली पेट ग्रीन टी के सेवन से कब्ज (constipation) की समस्या को भी जन्म दे सकता है। इसलिए खाली पेट ग्रीन टी का सेवन नहीं करना चाहिए। इसे हमेशा खाने के बाद या खाने के बीच में पी पीना चाहिए।

3 ) क्या ग्रीन टी से वजन कम होता है?
अपने न्यूट्रिशनल और ऐंटिऑक्सिडेंट वैल्यू की वजह से ग्रीन टी न सिर्फ वजन घटाकर मोटापा कम करती है बल्कि हेल्थ यानी आंतों को हेल्दी रखने में भी मदद करती है।

4 ) ग्रीन टी के नुकसान क्या है?
एक दिन में दो कप से ज्यादा ग्रीन टी पीना नुकसानदेह हो सकता है. कई दूसरे पेय पदार्थों की तरह ग्रीन टी में भी कैफीन पाया जाता है जो सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है. बहुत अधि‍क मात्रा में ग्रीन टी पीने से सिर दर्द, पेट दर्द, कब्ज, एसिडिटी, डायरिया और घबराहट की शिकायत हो सकती है।

5 ) वजन कम करने के लिए ग्रीन टी कैसे बनाएं?
ग्रीन टी में थिनिन की उपस्थिति मूड में सुधार और ध्यान बढ़ाने के लिए जाना जाता है. जो लोग वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं, उन्हें फैट बर्न करने के लिए एक्सरसाइज से पहले हर दिन एक कप ग्रीन टी पीनी चाहिए. आप ग्रीन टी में कुछ पुदीने के पत्ते, शहद और नींबू का रस मिला सकते हैं।

विशेष नोट – ग्रीन टी हो या अन्य कोई दवा या पेय पदार्थ किसी भी चीज़ का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य परामर्श करे , तथा इस वेबसाइट पर बताये गए किसी भी प्रोडक्ट्स का इस्तमाल अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही करे।

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट के अंतर्गत मैंने आपको बताया की ग्रीन टी के 10 फायदे तथा बनाने की विधि – Green Tea Benefits In Hindi तथा इससे सम्बंधित पूर्णरूप से जानकारी दी है किन्तु फिर भी अगर आपको इसमें कुछ नहीं समझ आता है या इससे रिलेटेड कुछ और डिटेल्स जानना चाहते है तो आप मुझे comment बॉक्स मे जरूर से कमेंट करिये मैं आपके सवालो के जवाब दूंगी और मेरे साथ जुड़े रहने के लिए मेरे , आज के इस पोस्ट को अपनी family और friends के साथ जरूर शेयर कीजिये, और उम्मीद करुँगी की आप मेरा पोस्ट जरूर पढ़ेंगे। ग्रीन टी के 10 फायदे

Leave a Comment