ओट्स के फायदे तथा उपयोग -Oats Benefits In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी ओट्स के फायदे तथा उपयोग -Oats Benefits In Hindi आइये जानते है।

यह भी पढ़े – योग के फायदे -Benefits Of Yog And Yogasan In Hindi

हम अपनी मॉर्निंग मे हमेशा एक अच्छे और हेअल्थी नाश्ते की को खाने का सोचते है जिससे हमारा पूरा दिन एनर्जी से भरपूर रहे और हम दिन भर अच्छे से काम कर सके। वैसे तो ऑलमोस्ट सभी घरो मे पोहा ,उपमा ,ब्रेड -जेम ,ब्रेड बटर का ही नाश्ता होता है लेकिन इनसे हमे बहुत जल्द भूख लग जाती है ,और हमे शरीर मे थकावट महसूस होने लगती है किन्तु ओट्स एक ऐसा नाश्ता है जिससे खाने के बाद आपकी शरीर में ऊर्जा पूरे दिन बानी रहेगी ,ओट्स न सिर्फ खाने में स्वादिष्ट होता है, बल्कि इसमें कई तरह के पोषक तत्व भी पाए जाते हैं।।

यह भी पढ़े – हाइट बढ़ाने के लिए कौनसा योग करना चाहिए – Yoga For Grow Height In Hindi

हेलो फ्रैंड्स कैसे है आप सभी उम्मीद करती हूँ की अच्छे ही होंगे ,जैसा की आप सभी जानते है मैं मेरे पोस्ट के माध्यम से आपको बहुत से आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स और उनमे समृद्ध प्राकर्तिक अवयवों के बारे मे बताती हूँ तो वैसे ही आज के इस पोस्ट के अंतर्गत हम बात करने वाले है ओट्स से सम्बंधित की यह नाश्ता हमारे बेहतर स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद हो सकता है। ओट्स शरीर को पोषण देने के साथ-साथ कई तरह की बीमारी से भी राहत दिलाने मे सहयता प्रदान कर सकता ,तो इसलिए आज के इस पोस्ट के अंतर्गत हम बात करने वाले है ओट्स के फायदे तथा उपयोग -Oats Benefits In Hindi तो आइये जानते है तथा साथ ही आप यह भी जानेगे की ओट्स क्या है और इसके क्या क्या फायदे है।

यह भी पढ़े – हाइट बढ़ाने के लिए बेस्ट एक्सरसाइज – Best Exercises To Increase Height In Hindi

ओट्स क्या है -What Is Otas

अक्सर जिन लोगो को नहीं पता होता है वे गूगल पर सर्च करते है की ओट्स क्या है तो जिन्हे इसके बारे मे जानकारी नहीं है मैं उन सभी को बताना चाहूंगी की ओट्स यानि जौ का दलिया, जो बाजार में अलग-अलग तरह से कई फ्लेवर्स में उपलब्ध है। सामान्यत: ओट्स सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं, कि यह अपकी त्वचा और सौंदर्य के लिए भी बेहद लाभदायक होता है। ओट्स को हिंदी में “जई” कहा जाता है। यह अनाज सबसे पहले स्कॉटलैंड में उगाया गया था और यह स्कॉटलैंड का एक प्रमुख आहार था। ओटमील का सेवन केवल मनुष्यों द्वारा ही नहीं बल्कि पशुओं के लिए भी उपयोग किया जाता है। ओट्स में कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का सही मिश्रण होता है, जो आपको ऊर्जा देते हैं। मॉर्निंग मैं अगर आप ओटमील का नाश्ता करेंगे तो ये आपके लिए सबसे बेस्ट होगा।

ओट्स से जुडी कुछ मुख्य जानकरी –

  • कैलोरी: 389.
  • पानी: 8%
  • प्रोटीन: 16.9 ग्राम
  • कार्ब्स: 66.3 ग्राम
  • चीनी: 0 ग्राम
  • फाइबर: 10.6 ग्राम
  • वसा: 6.9 ग्राम
  • ओट्स के साबुत अनाज है जो मुख्य रूप से उत्तरी अमेरिका और यरोप मे उगाया जाता है।
  • ओट्स वैज्ञानिक नाम -ऐवना सटाइवा (Avena sativa)
  • ओट्स वंश -ऐवना स्टेरिलिस (A. sterilis)
  • भारत में जई की जातियाँ मुख्यत: ऐवना सटाइवा (Avena sativa) तथा ऐवना स्टेरिलिस (A. sterilis) वंश की हैं। यह भारत के उत्तरी भागों में उत्पन्न होती हैं।

यह भी पढ़े – काली मिर्च के फायदे -Benefits Of Black Pepper (Kali Mirch) In Hindi

ओट्स के फायदे Benefits Of Otas

ओट्स मे मैग्नीज, थियामीन, मैग्नीशियम और फॉस्फोरस जैसे अन्य पोषक तत्वों से युक्त होते हैं और कैलोरी में भी कम करते हैं, इस प्रकार वे अच्छे स्वास्थ्य को सुनिश्चित करते हुए वजन कम करने में सहायता करते हैं। ओट्स में फाइबर और मैग्नीशियम पाया जाता है जो दिमाग में सेरोटोनिन की मात्रा को बढ़ाता है. इसे खाने से मस्तिष्क शांत रहता है तो आइये जानते है ओट्स खाने के क्या-क्या फायदे हो सकते है –

1 ) कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण करने मे सहायक – ओट्स में मौजूद बीटा ग्लुकोन नामक गाढा चिपचिपा तत्व हमारी आंतों की सफाई करते हुए कब्ज की समस्या दूर करता है। इसकी वजह से शरीर में bad कोलेस्ट्रॉल जमा नहीं हो पाता। अगर तीन महीने तक नियमित रूप से ओट्स का सेवन किया जाए तो इससे कोलेस्ट्रॉल लेवल में काफी हद तक तक कमी लाई जा सकती है।

2 ) हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने मे सहायक –हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन की समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। कभी कभी तो इस समस्या के कारण व्यक्ति को हार्ट अटेक आ जाता है जिससे जान भी चली जाता है। ब्लड प्रेशर बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं जैसे टेंशन, नींद पूरी नहीं होना या गलत खान पान के कारण भी यह समस्या हो जाती है। ओट्स एक पौष्टिक आहार है जिसमे पोटैशियम, विटामिन सी, घुलनशील फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो इन्सुलिन यानी रक्तचाप को नियंत्रित करके ब्लड प्रेशर को कम करता है। हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से ग्रस्त लोगों के लिए ओट्स का सेवन बहुत फायदेमंद है. नियमित रूप से ओट्स का सेवन करने वालों व्यक्तियों में बीपी की समस्या नहीं पाई जाती. इनमें पाया जाने वाला फाइबर हाई ब्लड प्रेशर की समस्या कम करता है।

3 ) कब्ज दूर करने मे सहायक –गलत खान पान के कारण कब्ज एक ऐसी समस्या हो गई है जो बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी में देखने को मिलती है। कब्ज बहुत सारी बीमारियों की जड़ होती है। इसके कारण माइग्रेन (सिर दर्द), पेट फूलना, हाथ पैरों में दर्द, चक्कर आना, भूक ना लगना, खट्टी डकारें तथा बदहजमी जैसी समस्याएं होने लगती हैं किन्तु इस समस्या का हल भी ओट्स मे है क्योकि ओट्स मे फाइबर पाया जाता है तथा साथ ही ओट्स मे पाया जाने वाला तत्व अनसॉल्युबल फाइबर गुणों में घुलनशील होता है जो हमारे भोजन को पचाता है साथ ही मल को पूरी तरह बाहर निकालने में मदद करता है जिससे कब्ज की समस्या ख़त्म हो जाती है।

4 ) शरीर मे ऊर्जा बनाये रखने मे सहायक –शरीर के लिए पर्याप्त ऊर्जा का होना अत्यंत आवश्क होता है क्योंकि ऊर्जा रहित व्यक्ति स्वयं को बहुत अधिक थका हुआ फील महसूस करता है। किसी भी काम को करने के लिए ऊर्जा की आवश्कता होती है और ऊर्जा की कमी से कोई भी व्यक्ति किसी भी काम को ठीक तरीके से नहीं कर सकता किन्तु ओट्स खाने से आपके शरीर को भरपूर मात्रा में ऊर्जा मिल सकती है। क्योकि ओट्स ऊर्जा का मुख्य घटक है इसलिए प्रतिदिन सुबह के समय ओट्स का सेवन करें जिससे की आपका शरीर थकवाहट ना महसूस करते हुए दिनभर ऊर्जावान रहे।

5 ) .तनाव दूर करने मे सहायक –आजकल तनाव का मुख्य कारण नींद न आना ,नकारात्मक सोच तथा अनियमित दिनचर्या। नींद नहीं आने की वजह से याददाश्त कमजोर होने लगती है एवं व्यक्ति चिड़चिड़ा हो जाता है और ऐसे मे वयक्ति तनाव मे रहता है। ओट्स में फाइबर और मैग्नीशियम पाया जाता है जो दिमाग में सेरोटोनिन की मात्रा को बढ़ाता है. इसे खाने से मस्तिष्क शांत रहता है. ओट्स का सेवन करने वालों को नींद भी अच्छी आती है।

6 ) हड्डियों को मजबूत बनाने मे सहायक –हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए दूध और विटामिन-D मुख्य अवयव हैं। दूध आजकल बहुत से लोग पीना पसंद नहीं करते और फ्री मे मिलने वाला विटामिन डी हां जी जो की हमे धुप से मिल सकता है उसे लेने के लिए हमारे पास समय नहीं है और यही कारण है कि बच्चों से लेकर बूढों तक सभी की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। ओट्स में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, विटामिन डी, मैग्नीशयम, सिलिकॉन, प्रोटीन एवं आयरन पाया जाता है। ये सभी वे तत्व है जो हड्डियों को मजबूत बनाते हैं अतः आप रोज नास्ते में ओट्स का सेवन करके अपनी हड्डियों को मजबूत बना सकते हैं।

7 ) कैंसर रोग को नियंत्रित करने मे सहायक –ओट्स का उपयोग कैंसर जैसी गंभीर समस्या से निजात पाने में भी किया जा सकता है क्योकि ओट्स में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी गुण कैंसर को बढ़ावा देने वाली कोशिकाओं को कम करते हैं और अच्छे कोशिकाओं को बनाए रखते हैं । कैंसर रोग से बचने के लिए हमें संतुलित और पौष्टिक भोजन का सेवन करना चाहिए। शोधकर्ताओं के मुताबिक ओट्स में फाइटोकैमिकल्स पाए जाते हैं जो कई तरह के कैंसर को रोकने में सहायता करते हैं।

8 ) पाचन तंत्र को मजबूत बनाये रखने मे सहायक –ओट्स एक नहीं बल्कि स्वास्थ संबंधी कई समस्याओं से निजात दिलाने मे सहायक है। पाचन का सही ना होना हमारे शरीर के लिए घातक हो सकता है और इससे कई अन्य बीमारिया उत्पन हो सकती है। यदि किसी व्यक्ति का पाचन तंत्र खराब है तो वह व्यक्ति कितना भी पौष्टिक अहार का सेवन कर ले तो भी उस अहार के पौष्टिक तत्व उसके शरीर तक नहीं पहुंच पाते हैं इसलिए पाचन तंत्र का स्वस्थ और सुचारु रूप से कार्य करना अत्यंत आवश्यक है। ओट्स में एन्टीऑक्सीडेंट, एन्टीबैक्टीरियल और फाइबर जैसे तत्व मुख्य रूप से पाये जाते हैं जो पाचन तंत्र को ठीक करके मजबूत बनाते हैं।

9 ) मुहासों से छुटकारा दिलाने मे सहायक –अनियमित जीवन शैली और हार्मोंस बदलाव के कारण अक्सर लोंगो को मुंहासों की समस्या हो जाती है। मुंहासों की समस्या होने का मतलब कम उम्र मे होकर भी अधिक उम्र का दिखना या फिर तो यूं समझा जाये की मुहासे स्किन को पूरी तरह से डैमेज कर देते है। ओट्स में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। ये तत्व त्वचा पर मौजूद मुंहासों को उत्पन्न करने वाले बैक्टीरिया को खत्म कर देते हैं। जिसकी वजह से मुंहासों की समस्या से जल्द ही छुटकारा मिल जाता है।

10 ) ओट्स इम्यूनटी सिस्टम को मजबूत बनाये रखने मे सहायक -मानव शरीर में प्रकृति दूारा एक सिस्टम तैयार किया है ,जिसकी वजह से मनुष्य किसी भी घातक बीमारी से लड़ने की कोशिस करता है किन्तु उसके लिए वह सिस्टम जिसे हम इम्यूनटी कहते है वह मजबूत होना जरुरी है। जिस व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है वह व्यक्ति जल्द ही कई बिमारियों की चपेट में आ जाता है। इसलिए डॉक्टर भी लोंगो को इम्यूनटी पावर स्ट्रांग करने के लिए कहते है। ओट्स में विटामिन सी, विटामिन-ए, विटामिन-बी2, विटामिन-ई, विटामिन-डी आदि तत्व पाए जाते हैं जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। यदि आप भी अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमत को बढ़ाना चाहते हैं तो आपके लिए ओट्स का सेवन करना बेहद फायेमंद होगा।

11 ) शिशु के लिए ओट्स फायदेमंद -हर माँ अपने बच्चे के अच्छे विकास के लिए उसे सही पोषक तत्वों को देना चाहती है और पौष्टिक आहार की खोज करती है। ओट्स केवल बड़ों के लिए ही फायदेमंद है ऐसा नहीं बल्कि यह बच्चों के लिए भी बेहद लाभकारी है। लगभग छह माह के उपरांत डॉक्टर से परामर्श लेकर आप छोटे बच्चों को भी ओट्स का सेवन करवा सकते हैं। ओट्स में वह सभी पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जो किसी भी शिशु के विकास के लिए आवश्यक होते हैं।

ओट्स का उपयोग – How to Use Oats

1 ) ओट्स खाने का सबसे आसान तरीका कुछ गर्म दूध, ताजे फल, नट्स और बीजों के साथ ओट्स का सेवन किया जा सकता है ।
2 ) ओट्स को सीजनल फ्रूट्स के साथ पीसकर एक शेक के रूप में पिया जा सकता है।
3 ) ओट्स को विभिन्न प्रकार की सब्जियों के साथ मिलाकर भी बनाया जा सकता है।
4 ) अगर वजन कम करना चाहते हैं तो फिर पैकेट वाले मसालेदार ओट्स के बजाय प्लेन ओट्स खाएं।
5 ) ओट्स में फाइबर काफी मात्रा में होता है।

ओट्स खाने के निम्न नुकसान –

ओट्स के फायदे होते हैं, तो कुछ नुकसान भी होते हैं। खासकर तब, जब आप इसे हद से ज्यादा खाने लगेंगे , जब आप किसी चीज को लिमिट में खाते हैं, तो तभी उसका शरीर को लाभ भी होता है नहीं तो वह नुकसान भी कर सकता है तो आइये जानते है इसके क्या -क्या नुकसान हो सकते है –

  • कम पोषक तत्व युक्त ओट्स अधिक खाने से कमजोरी, नाखून कम बढ़ना, नींद की समस्या हो सकती है।
  • ओट्स की कुछ तरह की क्वालिटी मे शुगर मिला होने के कारण इसके सेवन से डायबिटीज बढ़ने का डर बना रहता है। हालांकि, इसके सेवन से अत्यधिक नकुसान नहीं होता है, ओट्स खाने के बहुत ज्यादा नुकसान नहीं है यह बहुत ही फायदेमंद है, बस हमे इसकी मात्रा को ध्यान मे रखना चाहिए।
  • ओट्स ठीक से पके होने चाहिए। अगर कच्चे ही रह जाएंगे, तो पेट खराब हो सकता है।
  • ओट्स के अधिक मात्रा में सेवन करने से आपके आंत और पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचा सकता है, क्योंकि इसमें फाइबर की अधिक मात्रा पाई जाती है


ओट्स के फायदे तथा उपयोग के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न -Frequently asked Questions about Oats Benefits In Hindi

1 ) ओट्स कब खाना चाहिए?
वजन कम करने के लिए आप रोजाना इनका सेवन करें। आंच में पकाने से खाद्य पदार्थ के कई पोषक तत्व मर जाते हैं। लेकिन रात भर भीगे हुए ओट्स सुबह तक इतने मुलायम हो जाते हैं कि इन्हें खाया जा सके। लंबे समय तक भीगे रहने के कारण ओट्स में मौजूद सटार्च टूट जाते हैं, जिससे ओट्स में साइटिक एसिड कम हो जाता है।

2 ) ओट्स का सेवन कैसे किया जाता है?
हर दिन नाश्ते में ओट्स खाने से आप दिन भर चुस्त-दुरुस्त महसूस करते हैं. ओट्स को जौ से तैयार किया जाता है, यह बाजार में कई तरह के फ्लेवर में मिलता है. रोजाना आप अगर 30 से 40 ग्राम ओट्स का सेवन करते हैं तो इससे आपके शरीर को कई तरह के फायदे होते हैं

3 ) ओट्स खाने से वजन बढ़ता है क्या?
ओट्स प्रोटीन से भरपूर होते हैं. जो आपकी मांसपेशियों के निर्माण के लिए जरूरी हैं. यह आपका शुगर संतुलित रखता है और इंसुलिन के स्पाइक्स को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं जिससे आपका फैट नियंत्रित होता है और वजन भी तेजी से कम होता है।

4 ) ओट्स का हिंदी नाम क्या है?
ओट्स, ( जौ ) जिसे वैज्ञानिक रूप से एवेना सैटिवा के रूप में जाना जाता है, एक ऐसा अनाज है जो खराब मिट्टी में बढ़ने में सक्षम होता है जिसमें अन्य फसलें पनपने में असमर्थ होते हैं। हालांकि पतझड़ में इसकी फसल काटी जाती है, ओट्स पूरे वर्ष उपलब्ध होता है। … यह ओट्स को फाइबर और पोषक तत्वों का एक बड़ा स्रोत बनाता है।

5 ) खाने में ओट्स क्या होता है?
ओट्स इंटरनेशनल रिच फाइबर फूड है। जिसको डाइजेस्ट करने के लिए बॉडी की हीट यूज होती है। इसमें बीटा ग्लूटेन होता है जो कि हमारे शरीर की मिनरल ऑब्जर्ब करने की क्षमता को रोकता है। इंडिया में ओट्स में एक्सट्रा ग्लूटन डाला जाता है।

विशेष नोट –otas हो या अन्य कोई दवा किसी भी चीज़ का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य परामर्श करे , तथा इस वेबसाइट पर बताये गए किसी भी प्रोडक्ट्स का इस्तमाल अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही करे।

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट के अंतर्गत मैंने आपको बताया की ओट्स के फायदे तथा उपयोग -Oats Benefits In Hindi तथा इससे सम्बंधित पूर्णरूप से जानकारी दी है किन्तु फिर भी अगर आपको इसमें कुछ नहीं समझ आता है या इससे रिलेटेड कुछ और डिटेल्स जानना चाहते है तो आप मुझे comment बॉक्स मे जरूर से कमेंट करिये मैं आपके सवालो के जवाब दूंगी और मेरे साथ जुड़े रहने के लिए मेरे , आज के इस पोस्ट को अपनी family और friends के साथ जरूर शेयर कीजिये, और उम्मीद करुँगी की आप मेरा पोस्ट जरूर पढ़ेंगे ।

Leave a Comment