प्रेगनेंसी मे मखाना खाने के फायदे तथा उपयोग – Pregnancy Me Makhana Khane Ke Fayde In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी प्रेगनेंसी मे मखाना खाने के फायदे तथा उपयोग – Pregnancy Me Makhana Khane Ke Fayde In Hindi आइये जानते है।

यह भी पढ़े – प्रेगनेंसी मे क्या खाये – Pregnancy Diet Chart In Hindi

यदि आप एक महिला हैं तो आपको पता ही होगा की प्रेगनेंसी आपके जीवन में कितनी महत्वपूर्ण होती है, यही नहीं किसी पुरुष के लिए भी पिता बनना बहुत ही उत्साहपूर्ण होता है। एक औरत के लिए माँ बनना बहुत ही सौभाग्य की बात होती है,। प्रेगनेंसी के दौरान एक माँ ही बच्चे को सवस्थ और सुरक्षित रख रख सकती है ,क्योकि उसी के खान -पान पर निर्भर करता है की बच्चा है या नहीं तो एक प्रेग्नेंट महिला को इसलिए विशेष तौर से बेहतर खाने की सलाह दी जाती है।

यह भी पढ़े – हिमालया सेप्टिलिन टैबलेट के फायदे तथा उपयोग -Himalaya Styplon Tablet Uses In Hindi

जब भी कोई औरत मां बनने वाली है तो उसके मन में अपने खाने पीने को लेकर कई सारे सवाल होते हैं जैसे की किन चीजों से उनसका और होने वाले बच्चे का स्वास्थ अच्छा रहेगा किस तरह की डाइट उसके बॉडी की हर कमी को पूरा करेगा आदि और ये सभी बाते बहुत सी महिलाओ के दिमाग मे आती है। हेलो फ्रेंड्स कैसे है आप सभी उम्मीद करती हूँ की अच्छे ही होंगे जैसा की आप सभी जानते ही है की मे अपने पोस्ट के अंतर्गत आपको आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स से सम्बंधित जानकारी देती हूँ उसी प्रकार से आज का मेरा टॉपिक थोड़ा डिफरेंट होगा किन्तु अच्छा होगा लेकिन उसके लिए आप सभी लोग जो मेरा पोस्ट पढ़ते है उन्हें मेरा यह पोस्ट पूरा पढ़ना होगा ,इससे आपको बहुत ही अच्छी और बहुत सारी जानकारी प्राप्त हो सकती है तो आइये जानते है

यह भी पढ़े – हिमालया ईवकेयर कैप्सूल के फायदे तथा उपयोग -Himalaya Evecare Capsule Uses In Hindi

प्रेग्नेंसी में आपका खाना ही आपका सबकुछ है आप जितनी बेहतरनी डाइट लेंगी आपकी प्रेग्नेंसी उतनी अच्छी होगी और आप अपने 9 महीने आसानी से निकाल लेंगी. ऐसे में आज हम बात करने वाले उस डाइट की जिससे आपका बच्चा हेअल्थी हो और आप भी सवस्थ रहे इसे मे आपको डाइट चार्ट के माध्यम से भी समझाउंगी तो आइये जानते है। प्रेगनेंसी मे मखाना खाने के फायदे तथा उपयोग – Pregnancy Me Makhana Khane Ke Fayde In Hindi –

मखाना

यह भी पढ़े – हिमालया एंटी हेयर फॉल ऑयल के फायदे तथा उपयोग -Himalaya Anti Hair Fall Oil Uses In Hindi

प्रेगनेंसी मे मखाना खाने के फायदे तथा उपयोग – Makhana Benefits In Pregnancy In Hindi

मखाना (phool makhana) को फॉक्ट नट या कमल का बीज भी कहा जाता है। प्राचीन काल से मखाना को धार्मिक पर्वों में उपवास के समय खाया जाता है। मखाना से मिठाई, नमकीन और खीर भी बनाई जाती है। मखाना पौष्टिकता से भरपूर होता है, क्योंकि इसमें मैग्ननेशियम, पोटाशियम, फाइबर, आयरन, जिंक आदि भरपूर मात्रा में होता है। आयुर्वेद में मखाना के बहुत सारे गुणों की वजह से इसे प्रेग्नेंसी मे खाना भी बहुत लाभदायी माना गया है ताकि इससे बच्चे को कैल्शियम, प्रोटीन, फैट और आयरन जैसे पोषक तत्व मिल सके और मां के स्वास्थ्य और शिशु के विकास मे यह लाभदायी होता है तो आइये जानते है इसके क्या फायदे है।-

मखाना

1 ) अनिद्रा मे सहायक –अनिद्रा के इलाज के लिए मखाना के बीज बहुत अच्छे होते हैं। अनिद्रा कई कारणों से हो सकती है जैसे हार्मोन में बदलाव, तनाव और खान-पान की आदतें। मखाने के बीजों में आइसोक्विनोलिन एल्कलॉइड की मौजूदगी के कारण अनिद्रा का कुछ हद तक इलाज करने में मदद मिल सकती है, जो आपको काफी हद तक रिलैक्स फील करवाती है और बेचैनी को दूर करती है। मखाने में किडनी और हृदय स्वास्थ्य के लिए तो लाभकारी गुण पाए ही जाते हैं, साथ ही मखाने का सेवन बेचैनी, घबराहट और अनिद्रा की समस्या भी दूर करता है।

2 ) दस्त रोकने मे सहायक है – दस्त एक और समस्या है जिसे कमल के बीज की मदद से आसानी से दूर किया जा सकता है। हार्मोनल संतुलन में बदलाव के कारण बहुत सी महिलाओं को समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसमें दस्त भी शामिल है, और कमल के बीज को इसके लिए एक बेहतरीन उपाय कहा जाता है। कमल के बीज आपके पाचन तंत्र की शक्ति को बढ़ा सकते हैं और भोजन ठीक से पचता है। गर्भावस्था के शुरुआती चरणों में हर दिन कुछ कमल के बीज खाने से दस्त और पाचन संबंधी अन्य समस्याओं से बचने में मदद मिलेगी।

3 ) आयरन से भरपूर –बच्चा जब गर्भ में पल रहा होता है, तो उसके विकास के लिए आयरन की आवश्यकता होती है और उसके लिए डॉक्टर कुछ दवाये भी लिखती है आप वो भी ले ,किन्तु उसके साथ मखाने का सेवन जरूर करे क्योकि इसमें आयरन की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो गर्भ में शिशु के विकास में सहायक हो सकती है।

4 ) ब्लड प्रेसर कंट्रोल रखने मे सहायक –यदि आपको गर्भवती होने पर ब्लड प्रेसर की समस्या है तो कमल के बीज यानि की फुले मखाने आपके ब्लड प्रेसर कंट्रोल रखने मे आपकी काफी सहायता कर सकता है। कमल के बीज के बीच में एक भ्रूण होता है, जिसमें विटामिन होते हैं और शरीर पर शीतलता प्रदान करते हैं। भ्रूण ब्लड प्रेसर को नियंत्रण में रखने में मदद करते हैं। जबकि “आइसोक्विनोलिन” नामक अन्य “कड़वा” घटक शांत होता है और नसों को फैलाने में मदद करता है। इनमें कम सोडियम, उच्च पोटेशियम और उच्च मैग्नीशियम मात्रा होती है, जो रक्त प्रवाह और निम्न रक्तचाप में सुधार करती है।

5 ) प्रसव के बाद के दर्द से राहत दिलाने मे सहायक -प्रसव के बाद महिलाओं को काफी दर्द होता है। यह असहनीय भी होता है। मखाना के गुण ऐसे दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है। मखाना के पत्तों को 10-15 मिली पानी में डालकर काढ़ा बना लें। इसे पीने से प्रसव के बाद होने वाले दर्द से राहत मिलती है।

6 ) गर्भ में शिशु की हड्डियों को मजबूत बनाने मे सहायक –गर्भ में पल रहे शिशु की हड्डियों की मजबूती और दांतों के विकास के लिए विटामिन डी का सेवन आवश्यक है, जो मखाने में पाया जाता है ।

7 ) एनर्जी बढ़ाने मे सहायक –सबसे अधिक परेशानी तो तब होती है जब आप गर्भवती है और अंदर से शरीर को बहुत ही कमजोर फील होता है और इससे आपको थकन फील होती है। इसे दूर करना बहुत कठिन हो सकता है, खासकर यदि आपको कुछ काम पूरा करना है। कमल के बीजों का सेवन यानि की मखाने इससे लड़ने का एक शानदार तरीका है क्योंकि इनमें आयरन, जिंक, पोटेशियम, मैग्नीशियम, प्रोटीन और विटामिन होते हैं और यह आपको पूरे दिन ऊर्जावान महसूस करने में मदद कर सकते हैं।

8 ) शिशु के अंगों के विकास में सहायक : गर्भावस्था में मखाने के सेवन से गर्भवती महिला के शरीर में विटामिन ए की पूर्ति होती है और गर्भावस्था में विटामिन ए की पर्याप्त मात्रा लेने से शिशु के आंख, कान और रीढ़ की हड्डी के विकास में सहायता मिल सकती है।

9 ) हार्ट के लिए मखाना फायदेमंद –मखाना दिल के लिए फायदेमंद होता है। इसके उचित मात्रा में सेवन से यह रक्त की आपूर्ति में सुधार करता है एवं हार्ट अटैक जैसी गंभीर समस्याओं के रोक थाम में भी सहयोगी होता है ।

10 ) बेहतर स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद : डॉक्टर्स का मानना है कि बेहतर स्वास्थ्य के लिए मखाने के एंटीऑक्सीडेंट गुण प्रभावी हैं। इसलिए, गर्भावस्था में मां के बेहतर स्वास्थ्य के लिए मखाने का सेवन फायदेमंद हो सकता है और अगर माँ का स्वास्थ्य स्वस्थ होगा तब ही बच्चा भी स्वस्थ रह सकेगा।

प्रेगनेंसी मे मखाना खाने के फायदे के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न -Frequently asked Questions about Makhana Benefits In Pregnancy In Hindi

1 ) मखाने कितनी मात्रा में खाने चाहिए?
आयुर्वेदिक डॉक्टर की माने तो आपको सुबह उठते ही खाली पेट पांच से सात मखाने खाने चाहिए। यह शरीर में कई बीमारियों को काटने के साथ ही शरीर में प्रोटीन की मात्रा भी पूरी करते है। इतना ही नहीं पाचन तंत्र से लेकर जोड़ों के दर्द में भी यह लाभदायक है।

2 ) Pregnancy में क्या खाना चाहिए?
विटामिन B12, आयरन, ओमेगा 3 और फोलेट के लिए फलियां, हरी सब्जियां, साबुत अनाज, नट्स और फिश खाएं. इसके अलावा बाजरा, रागी, ओट्स, ब्राउन राइस, दाल और घी डाइट में शामिल करें. प्रेग्नेंसी में ज्यादा फाइबर वाले फल खाने चाहिए. आप सेब, नाशपाती, संतरा, अमरूद, जामुन, आड़ू और बेरीज खा सकती हैं।

3 ) मखाना को कैसे खाया जाए?
रात में जब सोएं, तो पहले गर्म दूध के साथ 6-7 मखाना खाएं, नींद गहरी आएगी और जब सुकून से सोएंगे।

4 ) क्या मखाना प्रजनन क्षमता के लिए अच्छा है?
हाँ, पुरुष बांझपन की स्थिति में मखाना का उपयोग किया जा सकता है। यह वीर्य की चिपचिपाहट को बढ़ाता है जिससे वीर्य की गुणवत्ता और मात्रा में सुधार होता है। मखाना यौन इच्छा को भी बढ़ाता है और वीर्य के जल्दी डिस्चार्ज होने को भी रोकता है ।

विशेष नोट – प्रेगनेंसी मे मखाना हो या अन्य कोई दवा या पेय पदार्थ किसी भी चीज़ का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य परामर्श करे , तथा इस वेबसाइट पर बताये गए किसी भी प्रोडक्ट्स का इस्तमाल अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही करे।

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट के अंतर्गत मैंने आपको बताया की प्रेगनेंसी मे मखाना खाने के फायदे तथा उपयोग – Pregnancy Me Makhana Khane Ke Fayde In Hindi तथा इससे सम्बंधित पूर्णरूप से जानकारी दी है किन्तु फिर भी अगर आपको इसमें कुछ नहीं समझ आता है या इससे रिलेटेड कुछ और डिटेल्स जानना चाहते है तो आप मुझे comment बॉक्स मे जरूर से कमेंट करिये मैं आपके सवालो के जवाब दूंगी और मेरे साथ जुड़े रहने के लिए मेरे , आज के इस पोस्ट को अपनी family और friends के साथ जरूर शेयर कीजिये, और उम्मीद करुँगी की आप मेरा पोस्ट जरूर पढ़ेंगे।

Leave a Comment