प्रेगनेंसी सिम्प्टम्स क्या होते है – Symptoms of pregnancy In Hindi

नमस्कार दोस्तों, Hindiinfo.in के इस के पोस्ट में आज मैं आपको बताऊगी प्रेगनेंसी सिम्प्टम्स क्या होते है – Symptoms of pregnancy
In Hindi
आइये जानते है।

यह भी पढ़े – प्रेगनेंसी मे मखाना खाने के फायदे तथा उपयोग – Pregnancy Me Makhana Khane Ke Fayde In Hindi

क्या आपके पीरियड्स मिस हुए हैं? यदि इसका उत्तर हाँ है तो यह आपकी प्रेगनेंसी का एक शुरूआती लक्षण है किन्तु यह जरुरी भी नहीं है की अगर आपका पीरियड राइट डेट पर नहीं आया तो आप प्रेग्नेंट है कभी -कभी जब हम कंसीव के लिए कोशिश कर रहे होते है तो बहुत सी महिलाओ मे पीरियड काफी ऊपर -नीचे होते है और इसका मुख्य कारण है शरीर मे हार्मोनल परिवर्तन इसी की वजह से कभी -कभी एक वीक तक पीरियड नहीं भी आते है किन्तु प्रेगनेंसी का सबसे मुख्य लक्षण पीरियड नहीं आना ही है इसलिए पीरियड्स मिस होने को इसका मुख्य लक्षण माना गया है।

यह भी पढ़े – प्रेगनेंसी मे क्या खाये – Pregnancy Diet Chart In Hindi

कुछ महिलाओं को प्रेगनेंसी के पहले सप्‍ताह में कोई लक्षण दिखाई नहीं देते हैं बल्कि कुछ महिलाओं में थकान, ब्रेस्‍ट को छूने पर दर्द होना और हल्‍की ऐंठन महसूस होती है। प्रेग्नेंसी का एहसास हर महिला के लिए सबसे अहम पल माना जाता है। यदि आप एक महिला हैं तो आपको पता ही होगा की प्रेगनेंसी आपके जीवन में कितनी महत्वपूर्ण होती है, यही नहीं किसी पुरुष के लिए भी पिता बनना बहुत ही उत्साहपूर्ण होता है। एक औरत के लिए माँ बनना बहुत ही सौभाग्य की बात होती है,। प्रेग्नेंसी टेस्ट के लिए बाजार में आपको प्रेगान्यूज़ जैसे अलग -अलग टेस्ट किट अवेलेबल होते है आप उससे अपनी प्रेग्नेंसी को कन्फर्म कर सकती है।

यह भी पढ़े – हिमालया सेप्टिलिन टैबलेट के फायदे तथा उपयोग -Himalaya Styplon Tablet Uses In Hindi

अक्सर मिस्ड पीरियड को प्रेगनेंसी का प्रारम्भिक लक्षण माना जाता है। इसके अलावा आप अपने ब्रेस्ट में दर्द, मॉर्निंग सिकनेस, जी मिचलाना इत्यादि भी महसूस कर रही है तो आप प्रेग्नेंट हो सकती है , हेलो फ्रेंड्स कैसे है आप सभी उम्मीद करती हूँ की अच्छे ही होंगे जैसा की आप सभी जानते ही है की मे अपने पोस्ट के अंतर्गत आपको आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स से सम्बंधित जानकारी देती हूँ उसी प्रकार से आज का मेरा टॉपिक थोड़ा डिफरेंट होगा किन्तु अच्छा होगा लेकिन उसके लिए आप सभी लोग जो मेरा पोस्ट पढ़ते है उन्हें मेरा यह पोस्ट पूरा पढ़ना होगा ,इससे आपको बहुत ही अच्छी और बहुत सारी जानकारी प्राप्त हो सकती है तो आइये जानते है प्रेगनेंसी सिम्प्टम्स क्या होते है – Symptoms of pregnancy In Hindi

यह भी पढ़े – हिमालया ईवकेयर कैप्सूल के फायदे तथा उपयोग -Himalaya Evecare Capsule Uses In Hindi

प्रेगनेंसी सिम्प्टम्स ( गर्भावस्था ) के प्रमुख लक्षण -Symptoms of pregnancy In Hindi

  • पीरियड्स मिस होना
  • जी मिचलाना और चक्कर आना
  • हल्का रक्तस्त्राव
  • थकान महसूस होना
  • मॉर्निंग सिकनेस
  • ब्रैस्ट और निप्पल्स में दर्द होना और निप्पल्स के रंग में परिवर्तन
  • मूड बदलना
  • सिर दर्द और सिर भारी होना
  • बार बार टायलेट जाना
  • खाने की इच्छा में बदलाव
  • पाचन सम्बन्धी समस्याएं – कब्ज की शिकायत

1 ) ब्रैस्ट मे चेंज होना –गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में हार्मोनल परिवर्तन के कारण आपके ब्रेस्ट या स्तनों में आप संवेदनशीलता और निप्पल्स में दर्द महसूस कर सकती हैं। ब्रैस्ट मे चेंज होना गर्भावस्था का एक और बहुत ही प्रारंभिक संकेत है। प्रेग्नेंसी के बाद एक महिला के हार्मोन का स्तर तेजी से बदलता है। परिवर्तनों के कारण, उनके स्तन एक या दो सप्ताह बाद सूज सकते हैं, दर्द कर सकते हैं या तनावग्रस्त हो सकते हैं। या वे भारी या फुलर महसूस कर सकते हैं या छूने पर बहुत अधिक दर्द भी हो सकता है। निपल्स के आसपास का क्षेत्र, जिसे एरोला कहा जाता है, भी काला हो सकता है। ये शुरआती लक्षण होते है फिर धीरे -धीरे यह कम हो जाता है।

2 ) कमर दर्द और ब्‍लोटिंग –यूट्राइन लाइनिंग रिलीज होने पर गर्भाशय में खिंचाव आता है जिसकी वजह से कमर और पेट में दर्द होने लगता है। हार्मोंस में उतार चढाव के कारण पेट फूलने की शिकायत भी हो सकती है। इसके लिए इस सप्‍ताह में आपको पीरियड की तरह ही मूड स्विंग्‍स भी परेशान कर सकते हैं।

3 ) सिर दर्द और सिर भरी होना – प्रेग्नेंसी के शुरुआती दिनों में आप सिर दर्द का अनुभव कर सकती हैं जो गर्भावस्था के शुरूआती दिनों में शरीर में बढ़ते रक्त परिसंचरण और (निश्चित रूप से) बढ़ते हार्मोन के स्तर के कारण हो सकता है। बहुत बार तेज़ सिर दर्द के साथ आप अत्यधिक थकान का भी अनुभव कर सकती हैं।

4 ) खाने की इच्छा में बदलाव –गर्भधारण के बाद एक खास लक्षण होता है जो अधिकतर सभी महिलायें अनुभव अवश्य करती हैं, वह है आपके स्वाद में परिवर्तन, कभी किसी भोजन को खाने की बहुत इच्छा होना या मनपसंद भोजन से चिड़न होना। नई गर्भवती महिलाओं में अक्सर भोजन को लेकर समस्या होती है , प्रेगनेंसी से पहले उनके पसंद किए जाने वाले व्यंजन इस दौरान पसन्द नहीं आते। इसके अलावा आपको किसी खास भोजन को खाने का मन बार-बार हो सकता है, इसे गर्भावस्था में भोजन की क्रेविंग के रूप में जाना जाता है।

5 ) मॉर्निंग सिकनेस – मॉर्निंग सिकनेस को भी प्रेगनेंसी के मुख्य लक्षणों (pregnancy symptoms in Hindi) में से एक माना जाता है जो दिन या रात किसी भी समय हो सकती है, अक्सर आपके गर्भवती होने के एक महीने बाद यह लक्षण दिखाई देना शुरू होता है। हालांकि, कुछ महिलाओं में यह कुछ पहले भी शुरू हो सकता है, क्योंकि प्रत्येक महिला के लक्षण भिन्न भिन्न हो सकते हैं। ये लक्षण सामान्य तौर पर बहुत सी महिलाओ मे देखने को मिलते है।

6 ) मूड स्विंग होना – प्रेग्नेंसी के शुरूआती लक्षणों में मूड में उतर चढ़ाव आना भी अहम् भूमिका निभाता है। प्रेग्नेंसी के बाद एक महिला बिना कारण हँसना, रोना और असामान्य रूप से भावनात्मक व्यवहार का अनुभव करती है ऐसा उसके शरीर में हार्मोन के कारण होता है। यह लक्षण अक्सर सभी महिलाओं में उनकी गर्भावस्था के समय काफी आम हैं और अगर ऐसा किसी भी महिला के साथ होता है तो उन्हें परेशान होने की जरुरत नहीं है की उन्हें बेवजह रोना क्यों आ रहा है क्योकि यह भी प्रेग्नेंसी के शुरूआती लक्षणों में से एक है।

7 ) थकान महसूस होना – गर्भावस्था के शुरुआती लक्षणों में थकान महसूस होना भी बहुत सामान्य होता है। प्रारंभिक गर्भावस्था के दौरान, हार्मोन प्रोजेस्टेरोन का स्तर बढ़ जाता है जिससे आप थकान अनुभव कर सकती हैं जिससे आपको अधिक नींद भी आ सकती है।

प्रेगनेंसी सिम्प्टम्स क्या होते है के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न -Frequently asked Questions about Symptoms of pregnancy
In Hindi

1 ) गर्भावस्था के लक्षण कितनी जल्दी शुरू होते हैं?
सेक्स के बाद प्रेग्नेंसी होने में करीब 2 से 3 हफ्ते का समय लगता है। कुछ लोगों को गर्भावस्था शुरू होने के एक हफ्ते बाद ही गर्भावस्था के लक्षण दिखाई देते हैं – जब एक निषेचित अंडा आपके गर्भाशय की दीवार से जुड़ जाता है।

  • 2 ) गर्भावस्था के पहले सप्ताह के लक्षण क्या हैं?
  • उल्टी के साथ मतली
  • सूजन, नीली नसों सहित स्तन परिवर्तन
  • जल्दी पेशाब आना
  • सरदर्द
  • शरीर का तापमान बढ़ा
  • पेट मे फुलावट
  • रक्तस्राव के बिना हल्के पैल्विक ऐंठन या बेचैनी
  • थकान

3 ) आप प्रेग्नेंट है ये आप गर्भवती को हाथ की नाड़ी से कैसे बता सकते हैं?
अपनी तर्जनी और मध्यमा को अपने दूसरे हाथ की कलाई पर, अपने अंगूठे के ठीक नीचे रखें। आपको एक नाड़ी महसूस करने में सक्षम होना चाहिए। (माप लेने के लिए आपको अपने अंगूठे का उपयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि इसकी अपनी नाड़ी है।) 60 सेकंड के लिए दिल की धड़कन को काउंट करे।

विशेष नोट – प्रेगनेंसी सिम्प्टम्स हो या अन्य कोई दवा या पेय पदार्थ किसी भी चीज़ का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य परामर्श करे , तथा इस वेबसाइट पर बताये गए किसी भी प्रोडक्ट्स का इस्तमाल अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही करे।

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट के अंतर्गत मैंने आपको बताया की प्रेगनेंसी सिम्प्टम्स क्या होते है – Symptoms of pregnancy In Hindi तथा इससे सम्बंधित पूर्णरूप से जानकारी दी है किन्तु फिर भी अगर आपको इसमें कुछ नहीं समझ आता है या इससे रिलेटेड कुछ और डिटेल्स जानना चाहते है तो आप मुझे comment बॉक्स मे जरूर से कमेंट करिये मैं आपके सवालो के जवाब दूंगी और मेरे साथ जुड़े रहने के लिए मेरे , आज के इस पोस्ट को अपनी family और friends के साथ जरूर शेयर कीजिये, और उम्मीद करुँगी की आप मेरा पोस्ट जरूर पढ़ेंगे।

Leave a Comment